Monday, 21 November 2016

कुछ दिनों तक लगेंगे झटके, आगे इकोनॉमी में आएगी मजबूत ग्रोथ

For daily intraday tips and intraday calls click this link to get connect with us https://www.linkedin.com/title/ripples-advisory fill our Two Days Free Trial For more you can give One missed call on this no. -9303093093 

 

नोटबंदी औ ब्लैक मनी पर प्रहार से इकोनॉमी में बदलाव देखने को मिलेगा। इकोनॉमी में बदलाव से छोटी अवधि में भले ही दिकक्त होगी, लेकिन लंबी अवधि में अच्छी ग्रोथ देखने को मिलेगी। नोटबंदी से तीसरी तिमाही में इकोनॉमी की ग्रोथ घटने की उम्मीद है, और आगे 4-5 महीनों तक ग्रोथ में कमी संभव है। मार्च 2018 तक इकोनॉमी की ग्रोथ 5.8-6 फीसदी के आसपास रहने की उम्मीद है। हालांकि नोटबंदी और काले धन पर प्रहार से मार्च 2019 से अच्छी ग्रोथ देखने को मिलेगी। इस तरह छोटी अवधि में थोड़े झटके जरूर लगेंगे, लेकिन लंबी अवधि में भारतीय इकोनॉमी मजबूती के साथ आगे बढ़ने की पूरी उम्मीद है। 

 

नोटबंदी के फैसले से रियल एस्टेट और ज्वेलरी सेक्टर पर काफी बुरा प्रभाव देखने को मिल सकता है। 1-1.5 साल की अवधि तक ज्वेलरी सेक्टर में मंदी का अनुमान है। हालांकि नोटबंदी के फैसले से 1-1.5 साल की अवधि में बिल्डिंग मटेरियल्स, इलेक्ट्रिकल्स, किचन वेयर और फाइनेंशियल सर्विसेस जैसे सेक्टरों में अच्छी ग्रोथ देखने को मिल सकती है। 

 

नोटबंदी के चलते अगले 2-3 महीनों में काफी दिक्कतें सामने आएंगी, और फिर जनवरी-फरवरी से एसएमई सेक्टर में तालेबंदी की नौबत आ सकती है। एसएमई सेक्टर की दिक्कतों के चलते बैंकिंग और एनबीएफसी पर बुरा प्रभाव देखने को मिलेगा। हालांकि वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही से बाजार में लिस्टेड कंपनियों को फायदा होने का अनुमान है। 2-3 महीनों तक शेयर बाजारों के लिए दिक्कतें बरकरार रह सकती हैं। लेकिन, अगले साल के शुरुआत से शेयर बाजार में नोटबंदी की खबरों का असर लगभग खत्म हो चुका होगा। 

 

1-1.5 साल की अवधि में मौजूदा स्तरों से बाजार में 10-12 फीसदी की तेजी मुमकिन लग रही है। मौजूदा वित्त वर्ष में आरबीआई की ओर से दरों में और 0.25-0.5 फीसदी की कटौती की उम्मीद है।

No comments:

Post a Comment